बॉलीवुड एक्ट्रेस के साथ होटल रूम में -Celebrity Sex Story

[ad_1]

फाइव स्टार होटल में हाउस कीपंग करते हुए मुझे एक बॉलीवुड एक्ट्रेस के रूम में जाने का मौक़ा मिला. वो उस समय नशे में थी. मैंने चार घंटे उसके साथ बिठाये. वहां क्या क्या हुआ?

कहानी का पिछला भाग: बॉलीवुड एक्ट्रेस के साथ सेक्स का मजा-1
अब मैंने तीसरा सवाल पूछा- ये बताओ कि क्या तुमने कभी सच में सेक्स का पूरा आनंद लिया है?
वो पहले तो चुप रही.
और फिर उसने कहा- नहीं, पूरा तो अभी तक नहीं लिया है. मगर लेना चाहती हूं।
उसने अपने गले पर हाथ फिरा कर ये जवाब दिया।

मैं समझ गया कि ये साली गर्म हो चुकी है बस इसकी चूत को थोड़ा गर्म करना है।
क्योंकि बाकी का काम मेरा लंड उफान मारकर कर रहा था।

फिर उसने चौथा सवाल पूछा- तुमने पहली बार सेक्स कब किया था?
अब मैं तैयार था कि अगर मैंने इसको अपनी सेक्सी मैम की सारी बात बता दी तो ये खुद मुझे सौम्प देगी।

मैं उसे अपनी टीचर की चुदाई स्टोरी सुना रहा था. वो बड़े ध्यान से सुन रही थी. वो मेरी सेक्सी मैम के बारे में सुन कर अपने होंठ दबा रही थी.

फिर जब मैं ये बता रहा था कि मैम ने मुझे सेक्सी का खिताब दिया तो उसने मुझे पूछा- मैं सेक्सी हूँ?
मैंने जानबूझकर मुँह बनाते हुए कहा- देखना पड़ेगा.
उसने कहा- कैसे?
मैंने कहा- जमीन पर खड़ी हो.

वो खड़ी हो गयी. वो हल्के नशे में थी. उसने कहा- अब?
मैंने कहा- अपने चूचों को उठाओ ब्रा के ऊपर से!
फिर मैंने कहा- अपनी स्कर्ट के अंदर हाथ डाल कर चूत सहलाते हुए पीछे की तरफ धीरे धीरे घूम जाना।

उसने वैसा ही किया. लेकिन जब उसने हाथ चूत पर लगाया तो उसकी आंखें बंद हो गयी. यह देख कर मुझसे रहा नहीं जा रहा था.
वो जैसे ही घूमी, उसका पीछे की तरफ से फिगर देख कर और उंगली करते हुए देख मुझसे रहा नहीं गया. ऐसा माल ज़िन्दगी में पहली बार देखा था वो भी कोई ख़ास मशहूर हस्ती।

मैंने पीछे से जाकर उसे पकड़ लिया, ब्रा के ऊपर से उसके बूब्स दबाने लगा. वो मदहोश करने वाली आवाजें निकाल रही थी।

मैं और तेजी से उसके मम्में दबाने लगा. मैंने अपने मुँह से उसको गाल से गर्दन चूमना शुरू किया तो उसका एक हाथ मेरे सर था।

मैंने अपने एक हाथ से उसके चूत के अंदर वाले हाथ को पकड़ कर अपने लंड पर रखवा दिया और उसकी चूत में मैं उंगली करने लगा.
वो और मदहोश हो रही थी। उसने अपने हाथों से मेरे बाल पकड़ कर अपने होंठ से मेरे होंठ मिला दिए।

मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं कोई सपना देख रहा हूँ क्योंकि मैं सिर्फ मुठ मारने वाला था उसको ख्यालों में लाकर … मेरे अंदर तो लड्डू फूट रहे थे.

वो अचानक घूमी, उसने मुझे धक्का दिया. मैं कुछ समझ पाता, उसने मुझे चूमना शुरू कर दिया. पहले गाल, फिर होंठ, गला उसके बाद वो मेरे शर्ट के बटन खोलने लगी, उसने मेरी शर्ट उतार दी।

मैं अब ऊपर से नंगा था और वो मेरे सीने को चूमे जा रही थी. वो नीचे बढ़ रही थी कि उसने मेरे लंड को अंडरवियर से लंड बाहर निकाला और उसे देखने लगी। मेरे अंदर एक अलग लहर दौड़ गयी.
उसने कहा- ये मेरे एक्स बॉयफ्रेंड से काफी बड़ा है.
मैंने कहा- आपने अभी इतने लंड नहीं देखे होंगे जितनी चूतें मैंने देखी और मारी हैं.

मैं ये सोच रहा था कि कैसे इसको अपना लंड चुसवाऊँ. क्योंकि वो एक एक्ट्रेस थी.
तो मैंने कहा- मैं चौथा सवाल पूछना चाहता हूँ.
उसने कहा- क्या?

मैंने कहा- ये बताओ कि अब तक तुमने कितने लंड चूसे हैं?
उसने कहा- एक!
मैंने कहा- किसका? और कैसे थोड़ा प्रैक्टिकल करके बताओ. तुम्हारे पास तो लंड भी है आज!
वो नशे की वजह से मेरी बात मान रही थी।

उसने कहा- मैंने फ़िल्म से पहले अपने एक्स को पकड़ा, पैंट उतारी.
अब उसने कहा- तुम्हारी पैंट तो पहले से उतरी हुई है.
मैंने कहा- आगे फिर क्या किया?

वो जैसा बता रही थी वैसा कर भी रही थी।
उसने कहा- और ऐसे लिया और चूसने लगी।

उसके मुँह का स्पर्श पाकर मेरा लंड धन्य हो गया. मुझे लगा कि वो ऐसे ही चूसेगी. लेकिन वो प्रोफेशनल की तरह चूस रही थी.

उसकी चुसाई से मैं ज्यादा उत्तेजित हो गया कि मैं झड़ने वाला हो गया. मैंने उसका सिर पकड़ कर लंड में दबा दिया. कुछ सेकंड बाद मैं झड़ गया और उसी के साथ उसका मुँह मेरे वीर्य से भर गया लेकिन गले में होने की वजह से सब अंदर चला गया।

मैं भूल गया कि वो सांस नहीं ले पा रही है.
उसने मुझे धक्का दिया और एक लंबी सांस ली.

मैं थोड़ा थक गया इसलिए मैं कुछ देर वैसे ही पड़ा रहा और वो मेरे बगल में लेट गयी। हम दोनों के आधे पैर बेड से लटक रहे थे.

मुझे याद आया कि यार ये रात मैं बेकार नहीं कर सकता.
मैंने कहा- सेक्सी, ये बताओ कि कोई ड्रिंक है?
उसने कहा- मिनी बार से ले लो!

मैं उठा और तुरंत हॉर्स पावर ड्रिंक ली. अभी मैं अच्छा महसूस कर रहा था.

थोड़ा और रेडी हो जाऊँ इसलिए मैंने सेक्स की गोली ले ली जो मैं अपनी जेब में रखता हूँ.
मैं वापस उसके पास गया.

उसने कहा- आ गए?
मैंने कहा- आपके 4 सवाल बचे हैं.
उसने कहा- अच्छा तो मेरा पाँचवाँ सवाल यह है कि तुमने कितनी लड़कियों की चूत चाटी है?
मैंने कहा- एक बार फिर चूत बोलिये!
उसने फिर कहा.
उसके मुँह से चूत बहुत अच्छा लग रहा था।

मैंने कहा- अब आपने प्रैक्टिकल बताया है तो मैं भी थोड़ा करके बता सकता हूँ.
उसने कहा- कैसे?
मैंने उसकी स्कर्ट की चेन पीछे से खोल दी. उसे उतार कर जमीन पर डाल दिया. अब उसके जिस्म पर केवल ब्लैक ब्रा और ब्लैक पैंटी थी.

मैं खड़ा होकर उसे देखने लगा।
उसने कहा- क्या देख रहे हो?
मैंने कहा- सच कहूँ तो ऐसा फिगर सिर्फ बॉलीवुड ही रख सकता है.
वो मुस्कुरायी, उसने कहा- मेरा जवाब दो।

मैं नीचे बैठा उसके पैर के अंगूठे से चूसना शुरू किया. उसके पास से बड़ी अच्छी महक आ रही थी. मैं ऊपर बढ़ कर पैर फिर जांघ और उसके बाद सीधे ऊपर फेस पर चला गया और होंठ चूसने लगा.
फिर मैं नीचे बढ़ा, बूब्स की नाली यानि क्लीवेज चाटी क्योंकि ब्रा पहने हुए थी इसलिए पेट पर चला गया.

जैसे ही मैंने पेट पर मुँह रखा, वो अजीब सी मदहोशी भरी आवाजें निकालने लगी- हहहह ओह्ह.
अब मैंने पैंटी के ऊपर मुँह रख दिया. मुझे पैंटी हल्की गीली सी लगी. लेकिन उसमें से खुशबू आ रही थी.

मैंने उसकी पैंटी उतारी और दरिंदों की तरह उसकी चूत पर जीभ मारने लगा, चाटने लगा. उसकी सिसकारियां सुनने लायक थी.
फिर और तेजी के साथ मैंने उसकी चूत को चूसना शुरू किया. वो अपनी जीभ से अपने होंठों से खेल रही थी।

उसने अपने हाथ से मेरे मुँह को और दबाया. मैंने अपने मुँह के अंदर उसकी फुद्दी लेकर जीभ अंदर डाल दी क्योंकि ऐसा मौका फिर नहीं मिलने वाला था.

मैंने जीभ अंदर चलाना शुरू किया तो वो बैठ कर अपने दोनों हाथों मुँह दबाने लगी.

मैं भी आवाज करके उसकी चूत चाटने लगा और उसके पैरों को अपनी पीठ पर करके उसे हवा में उठा कर उसकी चूत चूसने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी. उसकी आवाज और बढ़ गयी.
मैं समझ गया कि ये झड़ने वाली है.

वो और मचलने लगी जिसकी वजह से मैं उसे संभाल नहीं पा रहा था. मैंने उसे बेड पर पटक दिया और जल्दी से उसकी चूत मुँह में ली और जीभ मारने लगा.
जब वो झड़ी तो उसका पूरा पानी मैंने पीकर साफ कर दिया.
वो ढीली पड़ गयी।

मैंने सोचा कि अगर ऐसे ही छोड़ दिया तो मेरे लंड की तमन्ना रह जायेगी.

मैं उठकर उसकी चुत में उंगली करने लगा तेजी के साथ … उसके आखिरी कपड़े यानि ब्रा को उतारने को कहा.
उसने वो भी उतार दी।

मैंने कहा- अब बहुत हो गया.
मैं ऊपर बढ़ता हुआ गया और कहा- मेरे लंड को पूरा खड़ा कर दो.
और उसके मुँह में डाल दिया.

वो चूसने लगी. करीब 5 मिनट बाद मेरा लंड तैयार था. मैंने उसके मुँह को छोड़ा और चुत के ऊपर लंड रख कर हल्का सा दबाया.
मेरे लंड का टॉप अंदर हल्का गया ही था कि उसने कहा- प्रोटेक्शन पहनो.
मैंने कहा- नहीं है मेरे पास. मगर एक और प्रोटेक्शन है.
उसने कहा- क्या?
मैं उठा, पैंट से गर्भ रोकने वाली गोली निकाली और उसे खिला दी। वो मान गयी.

मेरे पास कंडोम था लेकिन मैं उसे बिना कंडोम के चोदना चाह रहा था।

करीब तीन बज रहे होंगे. मैंने सोचा कि अब ज्यादा टाइम नहीं है, जल्दी से इसे चोदो. वरना जूनियर वापस डेस्क पर आ जाएंगे।

मैंने उसे लेटी हुई हालात में ही उसकी चूत पर लंड रखा और एक झटके से आधा अंदर डाल दिया.
वो तड़प उठी.
शायद उसे दर्द हो रहा था. वो मुझे पीछे धकेलना चाह रही थी लेकिन मैंने उसे नहीं छोड़ा और हल्का पीछे होकर दूसरे झटके में लंड अंदर कर दिया.
वो उछली.

मैंने उसे उठाया और जोर जोर से राउंड मारने लगा. पहले वो कह रही थी- छोड़ो मुझे!
लेकिन कुछ देर बाद कह रही थी- और तेजी से चोदो मुझे!

उसकी यह बात सुनकर मैं बेड पर गिरा. वो मेरे ऊपर थी. मैंने उसके पैर फैलाये, दुबारा लंड उसकी चुत में डाला. अपने दोनों हाथों से कमर जकड़ कर हल्का हवा में उठ कर बहुत तेजी से चूत मारने लगा.
उसके चूतड़ मेरी जाँघों पर टकराने से फट फट की आवाज आ रही थी.
उसकी आवाजें निकल रही थी- आहहहह चोदो … और तेज!

अब न वो झड़ रही थी न मैं …

कुछ देर बाद बाद मुझे उसकी चूत ज्यादा गीली सी लगी. मुझे लगा कि वो झड़ चुकी है.

लेकिन मैं नहीं रुका. मैं उसे और आनंद देना चाहता था. मैं देखना चाहता था कि परमानन्द मिलने पर वो कैसी हरकतें करती है, कैसी आवाजें करती है.

करीब 10 मिनट बाद उसके अंदर कम्पन होने लगा. मैं समझ गया कि ये अब चरमसीमा पर पहुँच गयी है.

वो चरम सीमा का मजा लेने के बाद मेरे ऊपर गिर गयी. अब मेरी छाती उसकी छाती से चिपकी हुई थी. वो मेरे होंठ चूस रही थी, मैं भी उसका साथ दे रहा था।

मैं तो दुबारा नहीं झड़ा था तो मैंने कहा- सेक्सी तुम एक बार मेरे साथ वैसे ही सेक्स करो जैसे फिल्मो में हीरोइन हीरो के ऊपर बैठ कर करती है.
वो उठी.

उसने वैसा ही किया. अब मैं सिर्फ लेटा था, बाकी सब वो खुद कर रही थी. मेरे दोनों हाथ उसकी कमर पर थे. सच कहूँ तो वैसी कमर उसी की हो सकती थी. उसकी चूत मेरे लंड को जकड़ रही थी.

कुछ मिनट बाद मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ तो मैं उठा. मैंने उसे अपनी बांहों में भरा और उसके बूब्स को चूसते दबाते हुए उसे अपने लंड पर दबाने लगा.

शायद वो एक बार फिर झड़ चुकी थी. वो रुक गयी.
मैंने उसे झटके से नीचे किया क्योंकि मैं भी झड़ने वाला था और माल उसके अन्दर छोड़ना चाह रहा था इसलिए मैं तेजी से उसे चोद रहा था.

जब मैं झड़ा तो मेरी चीख निकल गयी क्योंकि पूरा लंड उसके अंदर था. मैंने पूरा माल उसी में छोड़ दिया जो धीरे धीरे बाहर आ रहा था.

लेकिन मेरा मन नहीं भरा था क्योंकि उसकी फिगर में उसकी गांड का शेप गजब था.
तो मैंने उससे कहा- तुम्हारी गांड मारनी है.
पहले उसने मना किया लेकिन थोड़ा फ़ोर्स पर वो मान गयी.

मेरा चिकना लंड तैयार था उसकी गांड मारने के लिए … मैंने उसे घोड़ी बनाया, उसकी गांड पर लंड रखा.
उसके थिरकते हुए चूतड़ गजब थे.

मैंने लंड हिरोइन की गांड के अंदर डाल दिया. जब लंड अंदर गया तो वो चिल्ला दी- हाय मेरी फट गई!
मैं यही सुनना चाहता था.

फिर मैंने उसे वैसे ही 10 मिनट चोदा. फिर उसे उठाया और बाथरूम में ले गया. शावर खोला और नहाते हुए उसे चोदा. नहाते वक्त वो होश में थी और मेरा पूरा साथ दे रही थी.

मैंने शावरजेल लगा कर उसे खूब चोदा और हम दोनों झड़ गए. उसे चोदते हुए चार बज चुके थे.
मैंने कहा- जान, अब जाना होगा. वरना मैंनेजर आ गए तो मेरी जॉब चली जायेगी.

लेकिन पता नहीं क्यों उसे छोड़ने का दिल नहीं कर रहा था मेरा … और शायद वो भी नहीं चाह रही थी कि मैं जाऊँ.
तभी उसने कहा- अभी नहीं!
मैं समझ गया कि गांड के बाद चूत की खुजली बढ़ गयी है इसकी.

तो मैंने बाथरूम में ही उसकी चुत चाटनी शुरू कर दी. वो मेरे मुँह को दबा रही थी. करीब 15 मिनट बाद वो झड़ गयी.
उसने कहा- तेरा लंड मुझे और चाहिए!
मैंने कहा- मुझे भी तुझे और चोदने की तड़प है. मैं तेरे साथ ब्लाइंड गेम खेलना चाहता हूँ.

मैं वापस रूम में आ गया और कपड़े पहने. वो कुछ देर बाद गाउन में बाहर आई।

मैंने उससे पूछा- कब तक रहोगी यहां?
उसने कहा- आज जाने वाली थी लेकिन अब मुझे तेरा लंड होश में चाहिए.
मैंने कहा- जान, आज रात मेरा ऑफ है. लेकिन मैं तुमसे अभी मिलना चाहता हूँ तो मैं अभी शिफ्ट से ऑफ लेता हूं. उसके बाद मैं सुबह 10 बजे तुम्हारे रूम में आऊंगा. लेकिन मेरे पास चाभी नहीं होगी.
उसने कहा- तुम मेरी चाभी ले जाओ.
मैंने कहा- ठीक है।

चलते वक़्त उसने कहा- तुम ये बात और मेरा नाम किसी को नहीं बताओगे?
मैंने कहा- जान हरगिज़ नहीं।
मैं जा रहा था तो मैंने उससे कहा- एक बार अपना फिगर दिखा दो.

उसने गाउन उतार दिया.
क्या कहूँ यार … उसका फिगर देखकर मेरा मन नहीं भर रहा था लेकिन खुद पर काबू करके मैं वहां से चला गया.

सारे काम पूरे करके उसके बाद उस दिन मैं 11 बजे चुपचाप आया. बिना किसी स्टाफ को बताए गेस्ट एरिया से मैं आया, उसकी चाबी इस्तेमाल करके कमरे में गया.

उस दिन और रात और उसके अगले आधे दिन हमने खूब चुदाई की। खास कर मैंने उसकी गांड खूब मारी क्योंकि मुझे लड़की को गांड चुदाई के बाद लंगड़ाते हुए चलते देखने में आनंद आता है.
और वो भी जब लंगड़ा कर चल रही थी तो पता नहीं मुझे एक अलग मजा आ रहा था.

लेकिन कसम से मस्त वो जबरदस्त फिल्मी माल है, चाहे जितना चोदो हमेशा तैयार चुदने के लिए!
मैं उन दिनों को नहीं भूल पाऊंगा।
वो अभी भी टच में है और इस साल तो उसकी मूवी भी आई थी।

दोस्तो, और भी ऐसी कई लड़कियां मेरी जिन्दगी में आयी. एक तो फ्रंट आफिस की शिमला की लड़की थी जेनिल. उसने मुझे एक्ट्रेस के रूम में जाते हुए देख लिया था.
खैर ये कहानी मैं आपको अगली बार सुनाऊंगा।

मेरी ये सेक्स कहानी अच्छी लगी होगी. मुझे मेल करें.
[Hindi sex stories]

[ad_2]

Leave a Comment