मेनेजर के बेटे से चुदाई


मेनेजर के बेटे से चुदाई

hindi chudai ki kahani
नमस्कार पाठको, कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और चुदाई के मजे जरुर ले रहे होंगे | मेरा नाम शैफाली है और मैं बनारस की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 25 साल है और मैं अभी प्राइवेट जॉब करती हूँ | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है और मेरा सेक्सी फिगर देख कर लोग अक्सर मुझे घूरते हैं क्यूंकि मैं टाइट कपड़े ज्यादा पहनती हूँ | दोस्तों मुझे इस साईट के बारे में मेरी एक फ्रेंड ने बताया था क्यूंकि वो बहुत जोशीली थी और उसे ही इन सब चीज़ के बारे में पता था तो उसी ने बताया था | तो दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पोस्ट करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगेगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लूंगी और अपनी कहानी चालू करती हूँ लिखना |
ये घटना पिछले साल अक्टूबर की है | मेरे घर में मेरे मम्मी पापा और मेरा एक छोटा भाई रहते हैं | मेरे पापा एक प्रॉपर्टी डीलर हैं और मम्मी कॉलेज की डीन हैं | हम लोग रिच हैं और मुझे टाइट कपड़े पहनना पसंद है क्यूंकि मेरा फिगर सेक्सी है और मुझे अच्छा लगता है जब मुझे कोई अच्छे अच्छे कमेंट करता है | मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है क्यूंकि मुझे कोई लड़के पसंद ही नहीं आते | स्कूल के समय से मेरे पीछे बहुत से लड़के पड़े थे पर मैं कभी किसी ओ भाव नहीं देती थी | कोई मुझे मेरे लायक नहीं लगता था इसलिए | मेरे कॉलेज में एक लड़का था जो मुझे पसंद आया था लेकिन उसकी पहले ही एक गर्लफ्रेंड थी इसलिए मैंने अपना रुख मोड़ लिया | उसके बाद मेरी जॉब मुंबई में लग गई तो मैं वहां रह कर जॉब करने लगी | मुझे मुंबई में रहते हुए कुछ महीने ही हुए हैं और मैं मुंबई में रूम ले कर रहती हूँ | अब मैं सुन्दर सेक्सी और जवान हूँ और मुझमे भी सेक्स की चाहत है लेकिन मैं हर किसी के साथ तो सेक्स नहीं कर सकती इसलिए मैं ब्लू फिल्म देखते हुए अपनी चूत में नकली लंड डाल कर अन्दर बाहर करती थी और जब मेरी चूत प्यार का रस छोड़ देती तो मैं वहीँ नंगी ही सो जाया करती | मेरी जीवनी ऐसे ही चल रही थी एक दिन मेरे ऑफिस के मैनेजर के बेटे ने मुझे प्रोपोज़ कर दिया | उसका नाम नीरज है और वो दिखने में किसी हीरो जैसा लगता है | उसका लम्बा चौड़ा कद हट्टी कट्टी काया देख कर तो कोई भी उसके प्रपोजल को मना नहीं करता | लेकिन मैं उसे कुछ दिन अपने इशारो पर घुमाना चाहती थी इसलिए मैंने कहा कि मैं सोच कर जवाब दूँगी |
इस बात पर उसने भी सहमती रख दी | जब काफी समय हो गया तब मैंने उसे हाँ कर दिया | लेकिन मैं उसे कुछ दिन और आज़माना चाहती थी | इसलिए मैं उससे कम ही बात करती थी और जब हम ऑफिस में रहते थे तब हम बिलकुल भी बात नहीं करते थे क्यूंकि मैं नहीं चाहती थी कि किसी को ये पता चले की ये मेरा बॉयफ्रेंड है | क्यूंकि मेरे ऑफिस में कई जलनखोर लड़कियाँ थी जो मुझसे बहुत जलती थी और इस बात से मैं वाकिफ थी | खैर, मैं नीरज के साथ घूमने पार्क जाया करती थी और सारा खर्चा वो ही उठाता था मेरा | मुझे कपड़ो का बहुत शौक है और मैं जब भी उससे मिलती तो कुछ न कुछ जरुर लेती | मेरा खर्च आराम से चल रहा था | मैं समझ चुकी थी मैं जो कुछ भी बोलूंगी तो वो मेरे लिए जरुर करेगा इसलिए मैं उसे अब धीरे धीरे अच्छे से समझते हुए बात करने लगी | वो मुझसे प्यार भरी बात करता था और मैं उसके प्यार को मजाक में ले कर बात करने लगी | कुछ समय बाद वो मुझे एक मूवी दिखाने ले कर गया तो उस समय मैंने उसे पहली बार किस किया था | उसके बाद से तो जैसे वो पागल सा हो गया |
वो मुझसे हर दिन सेक्स की बात करने लगा तो मैं भी उसके साथ सेक्स चैट और फ़ोन सेक्स करने लगी | फिर एक दिन मैंने सोचा कि इसको अपनी चूत का स्वाद चखा ही देती हूँ क्यूंकि मेरे लिए इतना जो करता है | एक दिन मैंने उसे अपने रूम बुलाया और जब वो आया तो उसने मेरे होंठ से अपने होंठ को लगा दिया और मेरे होंठ को चूसने लगा | मुझे भी अच्छा लग रहा था इसलिए मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगी | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे होंठ को चाट भी रहा था और मैं भी उसके होंठ को चूसते हुए उसके होंठ को चाट रही थी | हम दोनों ने 5 मिनट तक एक दूसरे को बहुत प्यार से चूसा | फिर मैंने उसके शर्ट को उतार दिया और उसकी छाती को चूमने लगी तो वो गुदगुदाने लगा | फिर मैं अपने घुटने के बल जमीन पर बैठ गई उसके जीन्स के बटन को खोल कर उतार दिया और फिर अंडरवियर को भी उतार कर उसे पूरा नंगा कर दिया | मैं उसके लंड को अपने हाँथ में लिया और हिलाने लगी | जब उसका लंड खड़ा हो गया तो मैं उसके लंड को जीभ से चाट कर सहलाने लगी तो वो अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | मैंने जब उसके लंड को अच्छे से चाट कर गीला कर दिया तो मैं उसके दोनों गोटों को अपने मुंह में भर कर चूसने लगी तो वो अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह मजे लेने लगा | फिर मैंने उसके लंड को अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी तो वो अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए मेरे बाल सँवारने लगा |
मैं उसके लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और वो अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए धक्के लगते हुए मेरे मुंह में अपना लंड अन्दर बाहर कर रहा था | उसके बाद उसने मुझे उठाया और मेरे टॉप को निकाल दिया और मेरे दूध को दबाने लगा तो मेरे मुंह से भी अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह की आवाज़ निकलने लगी | फिर उसने मेरे ब्रा को भी उतार दिया मेरे दोनों दूध को अपने मुंह में भर कर चूसने लगा तो मैं अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए उसके चेहरे को सहलाने लगी | वो मेरे दूध को जोर जोर से दबा कर चूस रहा था और निप्पलस भी खींचते हुए चूस रहा था और मैं अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | उसके बाद उसने मेरी जीन्स को भी उतार दिया और मुझे लेटा दिया और मेरी पेंटी को उतार कर सूंघा और फिर मेरी चूत पर अपनी जीभ फेरने लगा मेरी दोनों टांगो को चौड़ा कर के तो मैं अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए मजे लेने लगी | वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरी चूत के दाने को भी चूस रहा था और मैं अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए उसके मुंह को अपनी चूत पर दबा रही थी |
उसके बाद उसने मेरी दोनों टांगों को अपने कंधे में रख लिया और अपने लंड को मेरी चूत में घुसा दिया और चोदने लगा तो मैं अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए मदहोशी के आलम में झूमने लगी | फिर उसने अपनी चुदाई की स्पीड तेज कर दी और जोर जोर से मेरी चूत को चोदने लगा तो मैं अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए अपनी कमर उठा उठा कर चुदाई में साथ दे रही थी | उसके बाद उसने मुझे साइड में कर के एक पैर को अपने कंधे में रख कर मेरी चूत को चोदने लगा तो मैं भी अहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उन्ह ऊम्ह आहा ऊम्ह ऊंह करते हुए अपने दूध को मसल रही थी | उसने मुझे करीब 45 मिनट तक चोदा और मेरी चूत के ऊपर ही अपना माल छोड़ दिया |
तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं आशा करती हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगी होगी | मैं वादा करती हूँ कि आप लोगो के लिए मैं ऐसी ही मजेदार कहानियां लिखती रहूंगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *