Sexy Teacher Chudai Kahani – मैडम ने घर बुला कर चूत चुदवाई


सेक्सी टीचर चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी क्लासमेट को स्कूल से फरलो मार कर चोदता था. प्रिंसिपल को मुझ पर शक हो गया. उसने पूछताछ की तो …

दोस्तो, कैसे हो आप? उम्मीद करता हूं कि आप सभी ठीक होंगे।
मैं हरजिंदर सिंह एक बार फिर से आप सभी का अन्तर्वासना पर स्वागत करता हूँ।

दोस्तो, आप ने मेरी पिछली कहानी
क्लासमेट की चुदाई
पढ़ी होगी.

जिन्होंने नहीं पढ़ी है वो कृपया पिछली कहानी पढ़ लें।

आप सभी ने मेरी कहानियों को बहुत सराहा.
उसके लिए आप सभी का धन्यवाद।

दोस्तो, यह सेक्सी टीचर चुदाई कहानी मेरी और मेरी प्रिंसिपल मैडम मोनिका (बदला हुआ नाम) की है।
मोनिका की उम्र लगभग 35 साल, हाइट 5.5 फीट और फिगर 36-32-36 था।

उसका रंग दूध के जैसा सफेद था। उनके पति विदेश में रहते थे। मेरी उम्र उस टाइम 19 साल थी।

मेरी और कोमल की चुदाई का खेल चलते हुए लगभग चार पांच महीने हो चुके थे। हम महीने में चार या पांच बार स्कूल बंक करके चुदाई करते थे।

एक दिन मेरी प्रिन्सिपल मैडम ने मुझे अपने दफ्तर में बुलाया और बोली- तुम्हारी अभी छुट्टियां बहुत हो रही हैं, क्या बात है?
मैंने बोला- मैडम जी … घर पर काम रहता है तो छुट्टी कर लेता हूं।

मैडम- पहले तो इतनी छुट्टी नहीं होती थी। जिस दिन तू नहीं आता है, उसी दिन कोमल भी नहीं आती है। ये क्या चक्कर है तुम दोनों का?
मैंने कहा- मुझे उसके बारे में क्या पता मैडम, कि वो क्यों नहीं आती है।

फिर मैडम बोली- मैं कल कोमल के पेरेंट्स को बुलाकर उसके न आने का कारण पूछूँगी।
ये सुनकर मेरे पैरों के नीचे से ज़मीन निकल गई। मुझे लगा कि अब हम दोनों (मैं और कोमल) पकड़े जाएंगे।

मैंने मैडम को रिक्वेस्ट किया कि आगे से हम स्कूल हर रोज़ आएंगे।
मगर मैडम नहीं मान रही थी।

मैंने मैडम को मनाने की हर संभव कोशिश की मगर मैडम कुछ नहीं सुनना चाहती थी.

हारकर मुझे मैडम को मेरे और कोमल के बारे में सब बताना पड़ा।
मैडम मेरी कहानी सुनकर मुझे बोली- मैं तुम दोनों को स्कूल से निकाल रही हूं।

यह सुनकर मैं और डर गया और मैडम को बोला- आप चाहो तो मुझे निकाल दो लेकिन कोमल को आप मत निकालना।
मैं मैडम की आंखों से आँखें नहीं मिला पा रहा था।

मैडम कुछ सोचने के बाद बोली- एक ऑप्शन है।
मैंने पूछा- क्या?
मैडम बोली- रहने दो, तुम नहीं कर पाओगे।

मैंने मैडम को बोला- मैं कुछ भी करने को तैयार हूं. बस आप यह बात किसी को नहीं बताना और कोमल को स्कूल से नहीं निकालना।
मैडम बोली- ठीक है अब तुम अपनी क्लास में जाओ।

मुझे कुछ समझ नहीं आया कि मैडम मुझसे क्या करवाना चाहती है.
खैर उस दिन मैं पूरा स्कूल टाइम टेन्शन में रहा।

स्कूल की छुट्टी से 10 मिनट पहले मैडम ने मुझे दफ्तर में बुलाया.

वो बोली- आज तुम छुट्टी के बाद थोड़ी देर स्कूल के बाहर ही रुकना।
मेरे पास मैडम की बात मानने के इलावा और कोई भी ऑप्शन नहीं था.
मैंने उनकी बात मान ली.

सभी स्टूडेंट छुट्टी के समय स्कूल से निकल गए.
मैं स्कूल में एन्ट्रेंस के बाहर मैडम का इंतज़ार करने लगा।

लगभग 10 मिनट बाद वो आई और मुझे बोलीं- मेरे घर आ जाओ।
मैंने मैडम को बोला कि मुझे उनके के घर का नहीं पता तो मैडम ने मुझे घर की लोकेशन और हाउस नंबर बता दिया।

मैं लगभग 20 मिनट बाद मैडम के घर पहुंच गया।

घर पहुंचकर मैंने डोरबेल बजाई और मैडम ने दरवाजा खोला और मुझे अपने घर के अंदर ले गई।

मैं ड्राइंग रूम में बैठ गया और मैडम किचन में चली गई।

पांच मिनट बाद मैडम कोल्ड ड्रिंक ले आई।
मैंने मैडम को कोल्ड ड्रिंक के लिए मना कर दिया क्योंकि मुझे मैडम की पनिशमेंट के बारे में जानना था।

मैडम ने मुझे बोला- कोल्ड ड्रिंक पी लो, फिर बात करते हैं।
मैंने कोल्डड्रिंक पी ली और मैडम की तरफ देखने लगा कि अब मैडम मुझे वो काम बताएगी।

उसने भी मेरी उलझन को समझते हुए मुझसे कहा- हरजिंदर, तुम्हें वो सब मेरे साथ करने पड़ेगा जो तुम कोमल के साथ करते हो।
मैं मैडम की बात सुनकर शॉक्ड हो गया।

मैंने मैडम को बोला- आप तो शादीशुदा हो और आपकी उम्र मुझसे बहुत ज्यादा है।
मैडम बोली- मेरे हस्बैंड दो साल के बाद दो महीने के लिए आते हैं और उन दिनों में ही मेरी चूत की अच्छे से चुदाई होती है। उनके जाने के बाद मैं तड़पती रहती हूं।

मैडम को मैंने बोला- आप किसी अपनी उम्र वाले को पटा लो!
मैडम बोली- मैं पहले किसी के साथ रिलेशन में थी. उसकी बीवी को पता लग गया तो वो पीछे हट गया।

मैंने मैडम को बोला- मैडम मुझसे यह नहीं होगा।
उन्होंने कहा- मैं खुद ही सब कुछ कर लूंगी।
इतना बोलते ही वो उठकर मेरे पास आ कर बैठ गई और मेरे सिर को पकड़ कर अपनी तरफ खींच कर मेरे होंठों से अपने होंठ सटा दिए।

वो आंखें बंद करके पूरे मज़े से मेरे होंठ चूसने लगी।

थोड़ी देर बाद मुझे भी अच्छा लगने लगा और मैं भी उनके होंठों का रस पीने लगा।

उन्होंने मेरी शर्ट के बटन खोलकर मेरी शर्ट उतार दी।

फिर उन्होंने मेरी बनियान भी उतार दी।
मैंने मैडम को बोला- मेरे ही कपड़े उतारने हैं? आपने अपने नहीं उतारने?

मैडम उठी और उन्होंने अपनी टीशर्ट और लोअर उतार दी।
वो गुलाबी रंग की और पेंटी में थी। वो बहुत मस्त दिख रही थी।

मैडम ने मेरी पैंट और अंडरवियर एक साथ उतार दी।
मैंने मैडम को अपनी तरफ खींच कर अपने होंठ उनकी गर्दन पर सटा दिए.

उन्होंने अपनी आंखें बंद कर लीं और वो आहें भरने लगी। वो मेरा पूरा साथ दे रही थी।
मैंने हाथ उनकी पीठ पर ले जाकर उनकी ब्रा की हुक खोल दी. उन्होंने ब्रा निकालने में मेरा साथ दिया।

मैं उनके बूब्स पर टूट पड़ा। मैं उनके एक बूब को मुंह में लेकर अच्छे से चूसने लगा और दूसरे को हाथ में लेकर दबाने लगा।

वो पूरी मस्ती में आ चुकी थी। वो मेरे लन्ड को पकड़ कर सहलाने लगी।

थोड़ी देर बाद मैडम उठी और बेडरूम में चलने को बोलने लगी।
मैं और मैडम किस करते हुए बेडरूम में पहुंच गए।

मैडम ने मुझे बेड पर धक्का दिया और वो मेरे लन्ड पर टूट पड़ी।

अब वो पहले मेरे लन्ड की साइड पर अच्छे से जीभ नीचे से ऊपर की तरफ फिराने लगी। फिर वो पूरा लन्ड मुँह में लेकर चूसने लगी।
वो किसी रंडी की तरह लन्ड चूस रही थी।

थोड़ी देर बाद उसने मुझे चूत चाटने को बोला।
मैंने मना कर दिया।
मगर वो नहीं मानी और वो मेरे मुंह पर अपनी चूत रख कर कर बैठ गई।
मुझे यह बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगा।

फिर वो नीचे झुककर मेरा लन्ड चूसने लगी। मैं ना चाहते हुए भी उनकी चूत को जीभ से कुरेदने लगा।
वो फुल मस्ती में आ गई और वो मेरा लन्ड भी पूरा मस्ती से मुंह में डालने लगी।

मैंने उन्हें नीचे उतारा और मैं उनके ऊपर आ गया। मैंने अपना लन्ड उनके मुंह में डाल दिया और झुक कर उनकी चूत को हाथों से फैलाकर उनकी चूत में जीभ डाल दी।

वो अपनी गांड पटकने लगी.

थोड़ी देर बाद उनकी चूत से उनका चूत रस निकलने लगा। मैंने वो पूरा चाट कर साफ किया।

वो पूरी मस्ती में मेरा लन्ड चूस रही थी इसलिए मेरे लन्ड ने भी उनके मुंह में ही पूरा माल उड़ेल दिया।
मैम पूरा माल निगल गई।

हम दोनों शांत हो चुके थे. मैं उनके ऊपर से उतरा और उनके बगल में लेट गया।

थोड़ी देर बाद हम फिर से किस करने लगे। उन्होंने अपने नर्म हाथ में मेरा लन्ड पकड़ कर सहलाना शुरू कर दिया।

मेरा लन्ड फिर से खड़ा होने लगा। वो उठकर लन्ड मुंह में डालकर चूसने लगी।
जब लन्ड पूरा टाइट हो गया तो वो उठी और मेरे लन्ड पर अपनी चूत सेट करके बैठने लगी.

वो एक ही झटके में पूरा लन्ड अपनी चूत में लेकर लन्ड को महसूस करने लगी और झुक कर मेरे होंठों से अपने होंठ सटा दिए।
मैं भी उसकी चूत की गर्मी को महसूस करते हुए उनका किस करने में साथ देने लगा।

कुछ समय बाद मैडम ने मेरे होंठ छोड़े और लन्ड पर ऊपर नीचे होने लगी।
वो पूरी स्पीड से ऊपर नीचे हो रही थी।

उनके मुंह से मस्ती भरी आवाज़ें निकलने लगीं.
वो ‘आह्ह … आह्ह … ओह्ह … चोदो … आह्ह … ऊई … आह्ह … अम्म … अम्म …’ करते हुए वो चुद रही थी.

मैडम पूरी तरह से चुदाई से वाकिफ थी. वो हर तीन चार मिनट बाद उछलना छोड़ कर मुझे किस करने लगती थी।
इस बात की समझ मेरे को बाद में आई कि वो ऐसे क्यों कर रही थी, क्योंकि इस तरह करने से चुदाई में ज्यादा समय लग जाता है।

लगभग बीस मिनट तक मेरे लन्ड पर उछल-कूद करने के बाद मैडम नीचे उतरी और बेड पर अपनी टांगें फैलाकर लेट गई।
मैं बिना देरी के उठा और उनकी टांगों के बीच में आकर अपना लन्ड उनकी चूत के मुहाने पर सेट करके उनके ऊपर लेट गया।

फिर एक धक्के में पूरा लन्ड उनकी चूत में उतारकर उनको अच्छी तरह से बांहों में कस लिया।
उनके नर्म नर्म बूब्स मेरी छाती के नीचे दब गए। मुझे उनके बूब्स वाली जगह एक सपॉन्जी बॉल की तरह फील होने लगी।

मैंने सुपारे तक लन्ड बाहर निकाला और एक ही झटके में फिर अंदर डाल दिया।
मैंने इसी तरह करना जारी रखा।

मैडम मुझे स्पीड तेज़ करने को बोली।
फिर मैंने स्पीड तेज़ कर दी।
कमरे में केवल फच-फच … आह … आह की आवाज़ें आ रही थी।

लगभग 10 मिनट बाद मैडम झड़ गई.
मेरा भी पानी निकलने वाला था.

मैंने स्पीड और तेज़ कर दी लेकिन मैडम ने मुझे रोक दिया और लन्ड बाहर निकालने को बोला।

उनकी चूत में से मैंने लन्ड बाहर निकाला. मैडम एक झटके से उठी और मुझे खड़ा होने को बोली.

मैं खड़ा हो गया.
मैडम बैठ कर मेरा लन्ड चूसने लगी। वो पूरा लन्ड मुँह में लेकर चूसने लगी।

मैंने मैडम का सिर पकड़ा और लन्ड आगे पीछे करने लगा। मैडम के गले के अंदर तक मेरा लन्ड जा रहा था।

मेरे लन्ड का लावा फूटने वाला था। मेरे लन्ड ने मैडम के मुँह में ही वीर्य की पिचकारी छोड़ना चालू कर दिया.

मैडम पूरे मज़े के साथ लन्ड रस पी गई।
उन्होंने चाट कर वीर्य की आखरी बूंद तक साफ कर दी.

मैं बेड पर लेट गया। मैडम ने टिशू पेपर से मेरा लन्ड और अपनी चूत साफ की और मेरे साथ लेट गई।

हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे। मुझे मैडम के घर गए लगभग डेढ़ घंटे के करीब हो चुका था। मैं उठा और बाथरूम में जाकर नहाकर वापस कमरे में आ गया.

कमरे में आकर मैं अपने कपड़े पहनने लगा।
मैडम ने मुझे कपड़े पहनते देखा तो वो उठकर मेरे लिए संतरे का रस ले आई।

मैंने रस पिया और मैडम से विदा ली।

मैडम बोली- तुझे हफ्ते में कम से कम एक बार मेरी चुदाई करनी पड़ेगी।
मैंने मैडम को ओके बोला.
मैडम को मैंने एक फ्रेंच किस की और उनके घर से निकल कर अपने घर आ गया।

अगले दिन मैं स्कूल गया तो मैडम ने मुझे अपने केबिन में बुलाया और बैठने को बोला।
मैं उनके सामने कुर्सी पर बैठ गया।

मैडम ने बताया कि उन्हें कल बहुत मज़ा आया था।

फिर मैडम बोली- कोई रूम देखो रेंट पर, जहाँ आबादी कम हो।
मैंने मैडम से पूछा- क्यों?
मैडम बोली- मेरे घर पर बार बार तुम्हारे आने से परेशानी हो सकती है।

मैंने मैडम को बोला- ठीक है. मैं कोई रूम खोजता हूं लेकिन उसका रेंट आपको देना पड़ेगा।
मैडम हंसते हुए बोली- रेंट मैं ही दूंगी, और हां … आज के बाद तुम्हें स्कूल फीस भी नहीं देनी होगी।

ये सुनकर मेरे चेहरे पर मुस्कराहट आ गयी.
मैंने मैडम को थैंक्स बोला।

कुछ ही दिनों में मैंने दो डबल रूम सेट पसंद कर लिए।
मैंने मैडम को दोनों सेट दिखाए तो मैडम ने एक सेट पसंद कर लिया।

मैंने मैडम से उस सेट का 6 माह का किराया लेकर मकान मालिक को दे दिया।

उस मकान का मालिक चंडीगढ़ में रहता था और वो सैट बिल्कुल सुनसान एरिया में था।

अब मैडम और मेरा मिलन दोबारा उस नये मकान में होने वाला था.

वहां पर जाकर हमने फिर किस तरह से मजा लिया वो सब मैं आपको इस कहानी के अगले भाग में बताऊंगा.

आपको मेरी सेक्सी टीचर चुदाई कहानी पसंद आ रही होगी. अपनी राय इस कहानी के बारे में जरूर दें.
जल्द ही आपको कहानी का अगला भाग भी पढ़ने को मिल जायेगा. मुझे आपके सुझावों का इंतज़ार रहेगा।
धन्यवाद।
मेरी ईमेल आईडी है
[Hindi sex stories]

सेक्सी टीचर चुदाई कहानी जारी रहेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *